बार नोटिस भेजने पर भी जमानिया पीएसी के पूर्व प्रभारी डॉ रुद्र कांत सिंह ने स्थानांतरण होने के वावजूद दबंगई के बल पर नही किया सरकारी आवास को खाली जमानियाँ

आज कल मीडिया: बार नोटिस भेजने पर भी जमानिया पीएसी के पूर्व प्रभारी डॉ रुद्र कांत सिंह ने स्थानांतरण होने के वावजूद दबंगई के बल पर नही किया सरकारी आवास को खाली जमानियाँ ⁄ गाजीपुर– अपने कारनामों के कारण सुर्खियों में रहने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र जमानियाँ के पूर्व प्रभारी डॉक्टर रुद्रकांत सिंह समाचार पत्राें में आज भी बने हुए हैं। मुख्यचिकित्साधिकारी आदेंश के बाद भी पूर्व चिकित्सा प्रभारी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र जमानियाँ द्वारा नहीं खाली किया गया हैं सरकारी आवास। मुख्य चिकित्साधिकारी के नोटिस पर नोटिस, भेंजने के बावजूद भी उनके उपर कोई प्रभाव दिखायी नहीं दे रहां हैं। ऐसा लगता है जैसे बड़े अधिकारियों के आदेंश माने कुछ नहीं समझतें है डॉ , मानों की अपने उच्चाधिकारियों के आदेश को कचरें के ढ़ेर पर फेक कर भूल गए हैं।  अपनी मनमानी कर रहे डॉ मुख्य चिकित्साधिकारी के नोटिस को आज तक अपनी जेब मे रखकर घुम रहें हैं। जैसे की उनके सामने गाजीपुर के मुख्य चिकित्साधिकारी के आदेश का कोई भय नहीं है । आज भी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र जमानियाँ के सरकारी आवास पर दबंगई के बल पर उनका ही कब्जा है । आवास का खामियाजा नवागत प्रभारी डॉक्टर रविरंजन को भुगतना पड़ रहा है। पूर्व प्रभारी डॉक्टर रुद्रकांत सिंह के स्थानांतरण के बाद भी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र जमानियाँ पर अपनी धाक जमाये हुए हैं सरकारी आवस को खाली कराने को लेकर वर्तमान मे प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र जमानियाँ में  तैनात प्रभारी डॉक्टर डॉ रवि रंजन के यहां का प्रभारी डॉक्टर नोटिस पर नोटिस आती गई। लेकिन पूर्व प्रभारी अब तक मनमानी कर रहेें हैं। अगर अपने बड़े अधिकारी की बातों को दरकिनार कर डॉ करते रहे मनमानी तो आम जनमानस में कैसे जाएगा सही सन्देश इससे अधिकारी के साथ साथ सरकार की मनसा को भी डॉ कर रहे बदनाम गौरव चौबे की रिपोर्ट